‘Begum Jaan’ Movie Dialogues – Set in the backdrop of late Indian Independence period of 1948

अगस्त 1947 हिंदुस्तान के आखरी वाइसराय लार्ड मॉउन्टबेटन के फरमान ने एक मुल्क के दो हिस्से कर दिए, हिंदुस्तान और पाकिस्तान

‘Begum Jaan’ Movie Dialogues - Set in the backdrop of late Indian Independence period of 1948

ये कहानी ऐसे ही एक घर की है जिसके बीच से ये तलवार सी लकीर सर काटते हुए निकली तो सही मगर बाँट नहीं सकी

‘Begum Jaan’ Movie Dialogues - Set in the backdrop of late Indian Independence period of 1948

बाप, भाई, बेटा, शौहर, बेगम जान की चौखट के उस पार हर मर्द मुर्गा होता है तीन टांगों वाला मुर्गा

‘Begum Jaan’ Movie Dialogues - Set in the backdrop of late Indian Independence period of 1948

बेगम जान आज हमारा मुल्क आज़ाद हुआ है आप जश्न नहीं मनाएंगी?

‘Begum Jaan’ Movie Dialogues - Set in the backdrop of late Indian Independence period of 1948

तवायफ के लिए हर दिन एक जैसा होता है मास्टर! एक बार बत्ती बुझी तो सब एक

‘Begum Jaan’ Movie Dialogues - Set in the backdrop of late Indian Independence period of 1948

बेगम जान केहन्दी है के सिर्फ जिस्म दी नहीं सादे दिल दी वी कोई कीमत हुन्दी है 

‘Begum Jaan’ Movie Dialogues - Set in the backdrop of late Indian Independence period of 1948

ये कोठा खाली करना होगा बेगम जान इस कोठे के बीचों बीच हिंदुस्तान और पाकिस्तान का बॉर्डर निकलेगा

‘Begum Jaan’ Movie Dialogues - Set in the backdrop of late Indian Independence period of 1948

SHARE