Mmirsa Movie Dialogues – Film based on moden day Mirza-Sahiba

mmirsa-movie-dialogues-film-based-on-moden-day-mirza-sahiba

There are many films which are made on the topic of Mirza-Sahiba’s love story. But this film Mmirsa is based on story showcasing love story of moden day lovers. Here are some of the beautiful dialogues of the movie Mmirsa.

कहते हैं जब दो सच्चा प्यार करने वालों का मिलन इस जनम में नहीं होता तो वो उसे पाने की चाहत में पुनर जनम लेते हैं!

मिर्ज़ा, साहिबां, यही है हमारी कहानी!

अगर साहिबां मिर्ज़ा की नहीं हुई ना तो किसी की नहीं होगी!

मेरा नाम सनी है सनी! जिसको लोग प्यार से सनी देओल नहीं मिर्ज़ा कहते हैं!

इन्दर देव का दरबार सजा हुआ है, अप्सराओं ने पानी में आग लगा रखी है!

इसको कोई नहीं देखेगा भाई!

आज तुम्हें तुम्हारी भाभी और मुझे मेरी साहिबां मिली!

SHARE